What Is Computer RSCIT Course Notes

What Is Computer RSCIT Course Notes

कंप्यूटर क्या है

कंप्यूटर आज का युग कंप्यूटर का युग है आज जीवन के प्रत्येक क्षेत्र में कंप्यूटर का समावेश है बड़े पैमाने पर गणना करने वाले इलेक्ट्रॉनिक संयंत्र को सगणक और कंप्यूटर कहते हैं अर्थात कंप्यूटर वह युक्ति है जिसके द्वारा स्वचालित रूप से विविध प्रकार के आंकड़ों को संसाधित संचालित किया जाता है वर्तमान स्वरूप का पहला कंप्यूटर मार्ग-1 था जो 1937 ईस्वी में बना था |

कंप्यूटर नेटवर्क कि अर्थ

अर्थ :- कंप्यूटर नेटवर्क का अर्थ है यह है कि कंप्यूटर (जो कि autonomous) तरीके से जुड़े हैं का इंटरकनेक्शन जिससे उन से जुड़े साधनों का प्रयोग किया जा सके

कंप्यूटर नेटवर्क की हमें क्यों आवश्यकता पड़ी

कंप्यूटर नेटवर्क की हमें आवश्यकता इसलिए पड़ी कि पहले एक ही कंप्यूटर द्वारा पूरी संगठन है कि कंप्यूटरीकृत जरूरतों को पूरा कर दिया जाता था | परंतु अब यह तकनीक रूप से बदल चुका है जिसमें बहुत से अलग-अलग परंतु इंटरकनेक्टेड कंप्यूटर द्वारा सम्मान कार्य लिया जाता है

कंप्यूटर नेटवर्क के नाम यह कितने प्रकार के होते हैं

(a) टेलफोन नेटवर्क
(b) ब्रॉडकास्ट नेटवर्क
(c) ISDN Network
(d) LAN Network
(e) WEN Network
(f) MAN Network

कंप्यूटर नेटवर्क का उपयोग कहां किया जाता है

कंप्यूटर नेटवर्क का उपयोग इलेक्ट्रॉनिक संचार मैं किया जाता है | डाटा को एक लोकेशन से दूसरे लोकेशन में ट्रांसफर करने के लिए कंप्यूटर नेटवर्क का उपयोग किया जाता है

LAN, WAN, MAN, VPN कि फुल फॉर्म क्या है

LAN :- लोकल एरिया नेटवर्क
WAN :- वाइड एरिया नेटवर्क
MAN :- मेट्रोपॉलिटन एरिया नेटवर्क
VPN :- वर्चुअल प्राइवेट नेटवर्क

डाटा कम्युनिकेशन क्या है

डाटा को एक लोकेशन से दूसरी लोकेशन में ट्रांसफर करने को डाटा कम्युनिकेशन कहते हैं इसमें डाटा का ट्रांसमिशन माध्यम तार भी हो सकता है

डाटा कम्युनिकेशन के विभिन्न अंग कौन कौन से हैं

(b) sender वह लोकेशन जहाँ से डाटा को भेजा जाता है
(b) रिसीवर: transmit हुए signal का distination.
(c) Medium (माध्यम) :वह साधन जिसके द्वारा डाटा को एक स्थान से दूसरे स्थान तक भेजा जाता है

मोडम के बारे में लिखिए मोडम क्या है

मॉडम वह मशीन है जो एनालॉग/डिजिटल डाटा को डिजिटल एनालॉग में परिवर्तित कर देती है जिससे यूजर कंप्यूटर के माध्यम उत्तम कनेक्शन स्थापित होता है

मॉडुलेशन एंव डीमॉडुलेशन क्या है

मॉडुलेशन :- वह तकनीक जिसके द्वारा डिजिटल सिंग्नलों को एनालॉग सिंग्नलों में परिवर्तित किया जाता है

डीमॉडुलेशन :- वह तकनीक जिसके द्वारा एनालॉग सिंग्नलों को डिजिटल सिंग्नलों मे परिवर्तित किया जाता है

नेटवर्क टोपोलॉजी क्या है

नेटवर्क टोपोलॉजी नेटवर्क की विभिन्न मशीनों के कनेक्शन का एक पैटर्न है तथा इस पैटर्न द्वारा पूरे नेटवर्क पर उपलब्ध मशीनों का प्रयोग किया जा सकता है

कुछ टोपोलॉजी के नाम बताइए

(a) स्टार टोपोलॉजी
(b) रिंग टोपोलॉजी
(c) बस टोपोलॉजी

नेटवर्किंग के लाभों के बारे में लिखें

(a) पूरे नेटवर्क पर मशीनों की उपलब्धता का प्रयोग किया जा सकता है
(b) यह अधिक महंगा प्रोसेस नहीं है
(c) यह कम्युनिकेशन का शक्तिशाली माध्यम है

मॉडुलेशन का अतिरिक्त नाम क्या है

मॉडुलेशन का अतिरिक्त नाम इनकोडिंग है

LAN किस प्रकार का नेटवर्क है

LAN अधिकतर बेस बैंड नेटवर्क के प्रकार के नेटवर्क होते हैं

एनालॉग ट्रांसमिशन के विभिन्न अंगों के बारे में लिखें

एनालॉग ट्रांसमिशन के विभिन्न अंग है
(a) टेलिफोन सिस्टम
(b) मोडम
(c) RS-232C एंव RS-449

“Bandwidth” से आप क्या समझते हैं

डाटा को स्थानांतरित करने की आवर्ती को हम बैंडविथ कहते हैं यह बिट/सेकेंड में नापी जाती है

“PBX” से आप क्या समझते हैं

PBX “Private Branch Exchange” है यह मुख्य उद्देश्य कंप्यूटर है जो टेलिफोन सर्विसिंग के कंट्रोल के लिए प्रयोग किया जाता है सभी आने वाली फोन कॉल पीबीएक्स पर आती है तथा ऑपरेटर द्वारा पहन निश्चित स्थानों तक पहुंचा दी जाती है

PBX की विशेषता लिखिए

(a) वायस मेल
(b) सस्ता
(c) काल वेटिग

टेलीकम्युनिकेशन से आप क्या समझते हैं

टेलीकम्युनिकेशन का अर्थ है सिग्नल का टेलीफोन टेलीविजन या रेडियो के द्वारा भेजना और प्राप्त किया जाना

रिपीटर क्या है

सेंडर एंड रिसीवर स्टेशनों के माध्यम 25-30 किलोमीटर की दूरी पर यह रिपीटर लगाए जाते हैं इन्हें लगाने का उद्देश्य केवल कमजोर सिग्नल को बढ़ाकर उनके लक्ष्य तक पहुंचाना है

फाइबर ऑप्टिक क्या है

फाइबर ऑप्टिक एक डाटा स्थानांतरित माध्यम है यह एक तार जिसमें सिग्नल एक स्थान से दूसरे स्थान तक स्थापित किए जाते हैं यह स्थानांतरण का एक शक्तिशाली माध्यम है यह कांच के बने फिलामेंट से बनता है

कम्युनिकेशन नेटवर्क ओं के नाम

(a) स्विच्ड कम्युनिकेशन नेटवर्क
(b) ब्रॉडकास्ट कम्युनिकेशन नेटवर्क

डाटा के स्थानांतरण के लिए स्वीकृत कम्युनिकेशन नेटवर्क में क्या-क्या होता है

इसमें परस्पर जुड़े हुए नॉड्स होता है जो डाटा को एक स्थान से दूसरे स्थान तक हम स्थान्तरित करता है

लाइन में कौन सा स्थान तरण माध्यम प्रयोग नहीं किया जाता और क्यों लाइन में फाइबर ऑप्टिक का प्रयोग नहीं किया जाता

क्योंकि यह माध्यम लंबी दूरियों तक सिंग्नलों को भेजने के लिए प्रयोग किया जाता है और लाइन एक सीमित क्षेत्र के लिए होता है

नेटवर्किंग से संबंधित भिन्न उद्देश्य के बारे में समझाइए

(a) साधनों की शेयरिंग :- नेटवर्किंग के सभी कंप्यूटर जो आपस में जुड़े हैं अपनी सूचना program.in औजार का प्रयोग कर सकते हैं केवल यूजर एवं औजार की फिजिकल लोकेशन को छोड़कर

(b) विश्वास योग्य प्रमाणित :- हेलो को दो जान अधिक मशीनों पर एक्सेप्ट किया जा सकता है यदि कहीं कोई एक मशीन फेल हो जाए तो अन्य को क्यों प्रयोग की जा सकती है

(c) शक्तिशाली कम्युनिकेशन :- एक बहुत बड़े नेटवर्क के सभी लोग इस शक्तिशाली कम्युनिकेशन का लाभ उठा सकते हैं

नेटवर्क सिस्टम की एप्लीकेशन क्या है

नेटवर्क सिस्टम की उत्तम एप्लीकेशन है कोई भी कहीं भी एंव किसी भी समय नेटवर्क में प्रवेश करके वांछित सूचना प्राप्त कर सकता है कोई भी अपना ईमेल, ऑडियो एवं वीडियो स्थिर एंव अस्थिर पिक्चरें पूरे नेटवर्क पर कहीं भी भेज सकता है कोई भी दूरवर्ती डेटाबेस की बहू मात्रा में सूचना पर आसानी से एक्सेस कर सकता है

नेटवर्क कि सरचना के बारे में समझाइए

नेटवर्क में प्रोटोकॉल पदों की एक श्रेणी होती है और प्रत्येक प्रश्न नेटवर्क संबंधित कार्यों का उत्तरदाई होता है वह एस आई मॉडल द्वारा नेटवर्क को साथ विभिन्न परतों में विभाजित किया गया है विभिन्न परत जो विभिन्न जिम्मेदारियां देती है इस प्रकार से है
(a) Physical layer
(b) Data link layer
(c) Network layer
(d) Transport layer
(e) Session layer
(f) Presentation layer
(g) Application layer

कौन-कौन सी परत नेटवर्क रचना में विशेष है

नेटवर्क रचना में सभी परत की अपनी विशेषता है क्योंकि प्रत्येक परत अपनी जिम्मेदारी होती है और प्रत्येक अगली पर पिछली परत आउटपुट पर निर्भर भी होती है जब एक परत अपना कार्य समाप्त करती है तब दूसरी परत अपना कार्य शुरू करती है

फिजिकल लेयर के बारे में समझाइए

ओ.एस.आई. मॉडल की सबसे निचली लेयर को फिजिकल लेयर कहते हैं यह लेयर एक कंप्यूटर से दूसरे कंप्यूटर में बिट के ट्रांसफर एंव रिएक्शन के लिए जिम्मेदार होती है डाटा का ट्रांसमिशन बायनरी संख्या में होता है 0 एंव 1 के रूप में इस लेयर में पाई जाने वाली मशीन है|

Read More At RSCITRESULT.IN

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*